बिकाऊ मीडिया -व हमारा भविष्य

: : : क्या आप मानते हैं कि अपराध का महिमामंडन करते अश्लील, नकारात्मक 40 पृष्ठ के रद्दी समाचार; जिन्हे शीर्षक देख रद्दी में डाला जाता है। हमारी सोच, पठनीयता, चरित्र, चिंतन सहित भविष्य को नकारात्मकता देते हैं। फिर उसे केवल इसलिए लिया जाये, कि 40 पृष्ठ की रद्दी से क्रय मूल्य निकल आयेगा ? कभी इसका विचार किया है कि यह सब इस देश या हमारा अपना भविष्य रद्दी करता है? इसका एक ही विकल्प -सार्थक, सटीक, सुघड़, सुस्पष्ट व सकारात्मक राष्ट्रवादी मीडिया, YDMS, आइयें, इस के लिये संकल्प लें: शर्मनिरपेक्ष मैकालेवादी बिकाऊ मीडिया द्वारा समाज को भटकने से रोकें; जागते रहो, जगाते रहो।।: : नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक विकल्प का सार्थक संकल्प - (विविध विषयों के 28 ब्लाग, 5 चेनल व अन्य सूत्र) की एक वैश्विक पहचान है। आप चाहें तो आप भी बन सकते हैं, इसके समर्थक, योगदानकर्ता, प्रचारक,Be a member -Supporter, contributor, promotional Team, युगदर्पण मीडिया समूह संपादक - तिलक.धन्यवाद YDMS. 9911111611: :

Saturday, September 11, 2010

आत्मग्लानी नहीं स्वगौरव का भाव जगाएं, विश्वगुरु

आत्मग्लानी नहीं स्वगौरव का भाव जगाएं, विश्वगुरु  मैकाले व वामपंथियों से प्रभावित कुशिक्षा से पीड़ित समाज का एक वर्ग, जिसे देश की श्रेष्ठ संस्कृति, आदर्श, मान्यताएं, परम्पराएँ, संस्कारों का ज्ञान नहीं है अथवा स्वीकारने की नहीं नकारने की शिक्षा में पाले होने से असहजता का अनुभव होता है! उनकी हर बात आत्मग्लानी की ही होती है! स्वगौरव की बात को काटना उनकी प्रवृति बन चुकी है! उनका विकास स्वार्थ परक भौतिक विकास है, समाज शक्ति का उसमें कोई स्थान नहीं है! देश की श्रेष्ठ संस्कृति, परम्परा व स्वगौरव की बात उन्हें समझ नहीं आती! 
 किसी सुन्दर चित्र पर कोई गन्दगी या कीचड़ के छींटे पड़ जाएँ तो उस चित्र का क्या दोष? हमारी सभ्यता  "विश्व के मानव ही नहीं चर अचर से,प्रकृति व सृष्टि के कण कण से प्यार " सिखाती है..असभ्यता के प्रदुषण से प्रदूषित हो गई है, शोधित होने के बाद फिर चमकेगी, किन्तु हमारे दुष्ट स्वार्थी नेता उसे और प्रदूषित करने में लगे हैं, देश को बेचा जा रहा है, घोर संकट की घडी है, आत्मग्लानी का भाव हमे इस संकट से उबरने नहीं देगा. मैकाले व वामपंथियों ने इस देश को आत्मग्लानी ही दी है, हम उसका अनुसरण नहीं निराकरण करें, देश सुधार की पहली शर्त यही है, देश भक्ति भी यही है !
भारत जब विश्वगुरु की शक्ति जागृत करेगा, विश्व का कल्याण हो जायेगा !

 Antariksha Darpan.the most fascinating blog.

Monday, May 17, 2010

Antariksha Darpan.the most fascinating blog.

Wednesday, April 14, 2010

Antariksha Darpan.the most fascinating blog.
चन्दन तरुषु भुजन्गा

जलेषु कमलानि तत्र च ग्राहाः
गुणघातिनश्च भोगे
खला न च सुखान्य विघ्नानि
Meaning:
We always find snakes and vipers on the trunks of sandal wood trees, we also find crocodiles in the same pond which contains beautiful lotuses. So it is not easy for the good people to lead a happy life without any interference of barriers called sorrows and dangers. So enjoy life as you get it.
Courtesy: रामकृष्ण प्रभा (धूप-छाँव)
विश्व गुरु भारत की पुकार:-
विश्व गुरु भारत विश्व कल्याण हेतु नेतृत्व करने में सक्षम हो ?
इसके लिए विश्व गुरु की सर्वांगीण शक्तियां जागृत हों ! इस निमित्त आवश्यक है अंतरताने के नकारात्मक उपयोग से बड़ते अंधकार का शमन हो, जिस से समाज की सात्विक शक्तियां उभारें तथा विश्व गुरु प्रकट हो! जब मीडिया के सभी क्षेत्रों में अनैतिकता, अपराध, अज्ञानता व भ्रम का अन्धकार फ़ैलाने व उसकी समर्थक / बिकाऊ प्रवृति ने उसे व उससे प्रभावित समूह को अपने ध्येय से भटका दिया है! दूसरी ओर सात्विक शक्तियां लुप्त /सुप्त /बिखरी हुई हैं, जिन्हें प्रकट व एकत्रित कर एक महाशक्ति का उदय हो जाये तो असुरों का मर्दन हो सकता है! यदि जगत जननी, राष्ट्र जननी व माता के सपूत खड़े हो जाएँ, तो यह असंभव भी नहीं है,कठिन भले हो! इसी विश्वास पर, नवरात्रों की प्रेरणा से आइये हम सभी इसे अपना ध्येय बनायें और जुट जाएँ ! तो सत्य की विजय अवश्यम्भावी है! श्रेष्ठ जनों / ब्लाग को उत्तम मंच सुलभ करने का एक प्रयास है जो आपके सहयोग से ही सार्थक /सफल होगा !
अंतरताने का सदुपयोग करते युगदर्पण समूह की ब्लाग श्रृंखला के 25 विविध ब्लाग विशेष सूत्र एवम ध्येय लेकर blogspot.com पर बनाये गए हैं! साथ ही जो श्रेष्ठ ब्लाग चल रहे हैं उन्हें सर्वश्रेष्ठ मंच देने हेतु एक उत्तम संकलक /aggregator है deshkimitti.feedcluster.com ! इनके ध्येयसूत्र / सार व मूलमंत्र से आपको अवगत कराया जा सके; इस निमित्त आपको इनका परिचय देने के क्रम का शुभारंभ (भाग--1) युवादर्पण से किया था,अब (भाग 2,व 3) जीवन मेला व् सत्य दर्पण से परिचय करते हैं: -
2)जीवनमेला:--कहीं रेला कहीं ठेला, संघर्ष और झमेला कभी रेल सा दौड़ता है यह जीवन.कहीं ठेलना पड़ता. रंग कुछ भी हो हंसते या रोते हुए जैसे भी जियो,फिर भी यह जीवन है.सप्तरंगी जीवन के विविध रंग,उतार चढाव, नीतिओं विसंगतियों के साथ दार्शनिकता व यथार्थ जीवन संघर्ष के आनंद का मेला है- जीवन मेला दर्पण.तिलक..(निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpanh पर इमेल/चैट करें,संपर्कसूत्र-तिलक संपादक युगदर्पण 09911111611,09911145678,09540007993.
3)सत्यदर्पण:- कलयुग का झूठ सफ़ेद, सत्य काला क्यों हो गया है ?
-गोरे अंग्रेज़ गए काले अंग्रेज़ रह गए! जो उनके राज में न हो सका पूरा,मैकाले के उस अधूरे को 60 वर्ष में पूरा करेंगे उसके साले! विश्व की सर्वश्रेष्ठ उस संस्कृति को नष्ट किया जा रहा है.देश को लूटा जा रहा है.! भारतीय संस्कृति की सीता का हरण करने देखो साधू/अब नारी वेश में फिर आया रावण.दिन के प्रकाश में सबके सामने सफेद झूठ;और अंधकार में लुप्त सच्च की खोज में साक्षात्कार व सामूहिक महाचर्चा से प्रयास - तिलक.(निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/ निशुल्क सदस्यता व yugdarpanh पर इमेल/ चैट करें,संपर्कसूत्र-तिलक संपादक युगदर्पण 09911111611,9911145678,09540007993.

Sunday, March 28, 2010

विश्व गुरु भारत की पुकार:-

विश्व गुरु भारत विश्व कल्याण हेतु नेतृत्व करने में सक्षम हो ?

इसके लिए विश्व गुरु की सर्वांगीण शक्तियां जागृत हों ! इस निमित्त आवश्यक है अंतरताने के नकारात्मक उपयोग से बड़ते अंधकार का शमन हो, जिस से समाज की सात्विक शक्तियां उभारें तथा विश्व गुरु प्रकट हो! जब मीडिया के सभी क्षेत्रों में अनैतिकता, अपराध, अज्ञानता व भ्रम का अन्धकार फ़ैलाने व उसकी समर्थक / बिकाऊ प्रवृति ने उसे व उससे प्रभावित समूह को अपने ध्येय से भटका दिया है! दूसरी ओर सात्विक शक्तियां लुप्त /सुप्त /बिखरी हुई हैं, जिन्हें प्रकट व एकत्रित कर एक महाशक्ति का उदय हो जाये तो असुरों का मर्दन हो सकता है! यदि जगत जननी, राष्ट्र जननी व माता के सपूत खड़े हो जाएँ, तो यह असंभव भी नहीं है,कठिन भले हो! इसी विश्वास पर, नवरात्रों की प्रेरणा से आइये हम सभी इसे अपना ध्येय बनायें और जुट जाएँ ! तो सत्य की विजय अवश्यम्भावी है! श्रेष्ठ जनों / ब्लाग को उत्तम मंच सुलभ करने का एक प्रयास है जो आपके सहयोग से ही सार्थक /सफल होगा !
अंतरताने का सदुपयोग करते युगदर्पण समूह की ब्लाग श्रृंखला के 25 विविध ब्लाग विशेष सूत्र एवम ध्येय लेकर blogspot.com पर बनाये गए हैं! साथ ही जो श्रेष्ठ ब्लाग चल रहे हैं उन्हें सर्वश्रेष्ठ मंच देने हेतु एक उत्तम संकलक /aggregator है deshkimitti.feedcluster.com ! इनके ध्येयसूत्र / सार व मूलमंत्र से आपको अवगत कराया जा सके इस निमित्त आपको इनका परिचय देने के क्रम का शुभारंभ (भाग--१) युवादर्पण से करते हैं: -
युवा शक्ति का विकास क्रम शैशव, बाल, किशोर व तरुण!
घड़ा कैसा बने?-इसकी एक प्रक्रिया है. कुम्हार मिटटी घोलता, घोटता, घढता व सुखा कर पकाता है! शिशु,युवा,बाल,किशोर व तरुण को संस्कार की प्रक्रिया युवा होते होते पक जाती है! राष्ट्र के आधार स्तम्भ, सधे हाथों, उचित सांचे में ढलने से युवा समाज व राष्ट्र का संबल बनेगा: यही हमारा ध्येय है!
"अंधेरों के जंगल में,दिया मैंने जलाया है!
इक दिया,तुम भी जलादो;अँधेरे मिट ही जायेंगे !!"
YuvaaDarpan.blogspot.com

Tuesday, March 23, 2010

Antariksha Darpan.the most fascinating blog.
कभी विश्व गुरु रहे भारत की धर्म संस्कृति की पताका,विश्व के कल्याण हेतू पुनः नभ में फहराये!
                       श्री राम जय राम जय जय राम जय श्री राम
        श्री राम  जय राम जय जय राम जय श्री राम जय जय  श्री राम       
अखिल विश्व में फैले समस्त हिन्दुओं सहित संपूर्ण कण कण पर कृपा करनेवाले सर्वव्यापी मर्यादापुरुषोत्तम भगवान श्री राम के जन्म दिवस राम नवमी की सभी को हार्दिक बधाई -तिलक संपादक युग दर्पण एवम युग दर्पण परिवार

Monday, March 15, 2010

नव संवत 2067 की शुभकामनाएं.

अंग्रेजी का नव वर्ष भले हो मनाया,
उमंग उत्साह चाहे हो जितना दिखाया;
विक्रमी संवत बढ़ चढ़ के मनाएं,
चैत्र के नवरात्रे जब जब आयें;
घर घर सजाएँ उमंग के दीपक जलाएं,
खुशियों से ब्रहमांड तक को महकाएं.
यह केवल एक कैलेंडर नहीं प्रकृति से सम्बन्ध है,
इसी दिन हुआ सृष्टि का आरंभ है.
युगदर्पण परिवार की ओर से अखिल विश्व में फैले हिन्दू समाज सहित,चरअचर सभी के लिए गुडी पडवा, उगादी,
नवसंवत 2067 की शुभकामनाएं.
तिलक संपादक युगदर्पण. .
(निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpanh पर इमेल/चैट करें, संपर्कसूत्र-09911111611,9911145678,9540007993. www.bharatchaupal.blogspot.com/ www.deshkimitti.blogspot.com

Sunday, February 28, 2010

होली है.....! उल्लास का पर्व है, हुडदंग नहीं, उल्लास और शालीनता से मनाएं; अखिल विश्व में विराजे हिन्दुओं को युगदर्पण परिवार की ओर से, सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनायें !!


तिलक संपादक युगदर्पण 09911111611, (yugdarpanh@gmail/yahoo.com

Tuesday, January 26, 2010

Some Imp. Blogs on:- A Vast List of Subjects, intrests

देखते रहो All are on Blogspot.com
just click on Google Address Baar.
http://www/.___ .blogspot.com/ सभी में रहेगा,
केवल रिक्त स्थान में भरना है जो नीचे दिया है.
भारतचौपल---,    देशकीमिट्टी -- ,
प्रतिभा/ प्रबधन पर राजनैतिक प्रभाव की परिणति
बिकाऊ मीडिया के बीच Mission Media./ पर
__.BharatChaupal.__DeshKiMitti__
PratibhaPrabandhanParinatiDarpan__YugDarpan--
SarvaSamaachaarDarpan Current News for All.
etc./आदि भरें.दोनों ओर(.)न भूलें
Some 20 others are:-/
AntarikshaDarpan___DharmSanskrutiDarpan__
GyaanVigyaanDarpan__JeevanShailyDarpan__
JeevanMelaaDarpan__KaaryaKshetraDarpan__
MahilaaGharParivaarDarpan-ParyaavaranDarpan_
ParyatanDharoharDarpan__RaashtraDarpan__
SamaajDarpan__ShikshaaDarpan_SatyaDarpan__
VishvaDarpan_YuvaaDarpan__FilmFashionClub
FundaaDarpan__ChetnaaDarpan__(these 2 are on
Fundaa of FFCGlamour and Social evils Drugs,
Smoking, Wine. All  कुचक्र कुसंग विकृति बिगाड़ा)
Kaavyaanjalikaa__Rachnaakaarkaa__
(blog for Poety and other creative Activities)
ThitholeeDarpan_हास्य ठिठोली जीवनमें आवश्यक है
किन्तु जीवन ठिठोली नहीं है, न बना दी जाए!.इस पूरी
शृंखला में भारत की सभी प्रकार की पीड़ाकी अभिव्यक्ति
है आप इन सभी या इनमें से किसी भी पीड़ा को व्यक्त
करने हेतू कोई भी ब्लॉग चुन सकते हैं, लिख सकते हैं.
हमसे जुड़ने के इच्छुक ईमेल या चैट कर सकते
हैं (युगदर्पण h याहू / गूगल पर उपलब्ध है )
जीवन के हर रूप/ हर रंग/हर पक्ष के दर्द को समझने
के प्रयास में----अंतरताने पर_____२१ दर्पण +४
अन्तरिक्ष/ चेतना/ धर्मसंस्कृति/ फ़िल्मफ़ैशनक्लबफ़ंडा/
ज्ञानविज्ञान/ जीवनशैली/ जीवनमेला/कार्यक्षेत्र/महिलाघरपरिवार/
पर्यावरण/ पर्यटनधरोहर / प्रतिभाप्रबंधनपरिणति/ राष्ट्र/ समाज/
शिक्षा/ सत्य/  सर्वसमाचार/ ठिठोली/ विश्व/ युवा एवं युगदर्पण +
भारतचौपल, देशकीमिट्टी, काव्यांज्लिका, रचनाकारका,
.ब्लॉगस्पाट.काम की पूरी श्रंखला प्रस्तुत है.
--युगदर्पण समाचार पत्र समूह
तिलक राज रेलन सम्पादक- युग दर्पण
09911111611, 9911145678, 9540007993,-91

Wednesday, January 20, 2010

MARS Overview:
Mars is a cold desert planet with no liquid water on its surface. But in the Martian arctic, water ice lurks just below ground level. Discoveries made by the Mars Odyssey Orbiter in 2002 show large amounts of subsurface water ice in the northern arctic plain. The Phoenix lander targets this circumpolar region using a robotic arm to dig through the protective top soil layer to the water ice below and ultimately, to bring both soil and water ice to the lander platform for sophisticated scientific analysis.
The complement of the Phoenix spacecraft and its scientific instruments are ideally suited to uncover clues to the geologic history and biological potential of the Martian arctic. Phoenix will be the first mission to return data from either polar region providing an important contribution to the overall Mars science strategy "Follow the Water" and will be instrumental in achieving the four science goals of NASA's long-term Mars Exploration Program. --Determine whether Life ever arose on Mars --Characterize the Climate of Mars --Characterize the Geology of Mars --Prepare for Human Exploration The Phoenix Mission has two bold objectives to support these goals, which are to (1) study the history of water in the Martian arctic and (2) search for evidence of a habitable zone and assess the biological potential of the ice-soil boundary.
Courtesy: NASA
ISRO Proud 1----Chandrayan-1    Back to Memories     dtd. 20.11.08
For a person in India, it gives immense respect and humble thing, which was actually a dream of we Indians to have the outlook of moon.
ISRO team has done India Proud.
The HySI (Hyper Spectral Image) Camera, will pan now and will allow to take the 3D Color ATLAS of the moon.
Sri...!
         Monday, dtd. January 21, 2008

Chandrayan 1 is the Space program which is jointly held out by ISRO Bangalore with the help and support from NASA. In this specific program, the Indian Space Scientists are trying to find out if there is any evidence of life forms on the surface of moon and they want to check the ambient of the atmosphere on Moon. The 50 Mt radius dish antenna an assembly of the RADAR to track the route of the moon's voyager CHANDRAYAN has been successfully set up with good surveillance and vigil at Bangalore's ISRO. We have to wait and see this amazing feat of the people of ISRO on Chandrayan. Hope this mission will be accomplished soon.
  Sridhar Monday, January 21, 2008


Scientists at the Indian Deep Space Network(ISDN) set up for the Chandrayaan project tracking the spacecraft at the ISTRAC campus of ISRO at Byalalu village, near Bangalore, on October 22, 2008.